CapsuleinfoMedicineProtinex Powder Benefits in Hindi: प्रोटीनेक्स पाउडर की जानकारी, उपयोग और फायदे

Protinex Powder Benefits in Hindi: प्रोटीनेक्स पाउडर की जानकारी, उपयोग और फायदे

Protinex Powder Benefits in Hindi: प्रोटीनेक्स पाउडर (Protinex Powder) एक प्रोटीन पाउडर है, जिसमें हाइड्रोलाइज्ड प्रोटीन के साथ 8 इम्यूनो-न्यूट्रिएंट्स, विटामिन और मिनरल्स होते हैं। यह पोषण संबंधी आवश्यकताओं की पूर्ति करते हैं और साथ ही साथ इम्यून सिस्टम या प्रतिरक्षा प्रणाली के कार्य को सपोर्ट करते हैं। इसमें वसा की मात्रा काफी कम होती है, जिस वजह से यह आसानी से पच जाता है। इसका उपयोग शरीर में होने वाले प्रोटीन, न्यूट्रिशन और विटामिन की कमी को पूरा करने के लिए किया जाता है। इसको लेकर हमने आगे बारीकी से बताया है। साथ ही साथ इसके फायदे भी बताए हैं।

मगर उससे पहले यह जान लीजिये कि प्रोटीनेक्स पाउडर (Protinex Powder) का निर्माण न्यूट्रिशिया इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड (Nutricia International Pvt Ltd) द्वारा किया जाता है और इसमें कई सारे इंग्रीडिएंट्स डले हुए हैं। इसमें मूंगफली प्रोटीन हाइड्रोलाइज़ेट, माल्ट अर्क, फोलिक एसिड, एस्कॉर्बिक एसिड, मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड, ट्रांस फैटी एसिड, पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड, चीनी, विटामिन (ए, बी 1, बी 2, बी 6, बी 12, सी, ई, के, डी 2), नियासिन, पैंटोथेनिक एसिड, बायोटिन, कैल्शियम, सोडियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, कोलीन, पोटेशियम क्लोराइड, आयरन, जिंक, मैंगनीज, तांबा, आयोडीन, सेलेनियम, मोलिब्डेनम डला होता है। 

इसका उपयोग हमेशा डॉक्टर से सलाह लेने के बाद करना चाहिए। ताकि कोई साइड इफेक्ट देखने को न मिले। इसका उपयोग 8 साल से छोटी उम्र के बच्चों को नहीं कराना चाहिए। साथ ही इसका उपयोग एक नियमित मात्रा में करना चाहिए। चूंकि शरीर में किसी भी चीज की अधिकता हानिकारक हो सकती है। 

प्रोटीनेक्स पाउडर के उपयोग – Protinex Powder Uses in Hindi 

प्रोटीनेक्स पाउडर के उपयोग - Protinex Powder Uses in Hindi 

प्रोटीनेक्स पाउडर (Protinex Powder) का उपयोग मुख्य रूप से प्रोटीन, न्यूट्रिशन और विटामिन की कमी को पूरा करने के लिए किया जाता है। दरअसल, जब किसी बिमारी की वजह से या फिर खाने से भरपूर पोषण नहीं मिल पाने की वजह से इसकी कमी हो जाती है तो इसका उपयोग किया जाता है। इस पाउडर का उपयोग ताकत और सहनशक्ति बढ़ाने के लिए किया जाता है। इसका उपयोग रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए भी किया जाता है। 

इसका उपयोग 200ml गुनगुने दूध में 2-3 चम्मच मिलाकर किया जा सकता है। या फिर किसी को दूध पसंद नहीं है या उसे इससे एलर्जी है तो वह पानी के साथ भी इसका सेवन कर सकता है। इतना ही नहीं बल्कि इसका सेवन दलिया और दही के साथ भी किया जा सकता है। इसे आपको अच्छी तरह घोलने के बाद इस्तेमाल करना चाहिए। लेकिन आपको यह ज्ञात हो कि इसका उपयोग मसल्स बिल्डिंग के लिए किया जाना अच्छा विकल्प नहीं है। चूंकि मसल्स बिल्डिंग या बॉडी बिल्डिंग के लिए आपको ज्यादा प्रोटीन की जरूरत होती है। 

यह शाकाहारी लोगों के लिए परफेक्ट चॉइस हो सकता है। मगर सुरक्षा के नजरिए से इसका उपयोग किसी को भी डॉक्टर से राय लेने के बाद और खुराक की जानकारी लेने के बाद ही करना चाहिए। चूंकि कई बार शरीर में पोषक तत्वों की कमी कई अन्य कारणों से भी हो सकती है। ऐसे में उसकी सही जानकारी होना जरूरी है। 

Read Also: डुल्कोफ्लेक्स 5 मिलीग्राम टैबलेट के उपयोग | न्यूरोबियन आरएफ फोर्टे इंजेक्शन के उपयोग | मेनोहेल्प सिरप के उपयोग

प्रोटीनेक्स पाउडर के फायदे – Protinex Powder Benefits in Hindi 

प्रोटीनेक्स पाउडर (Protinex Powder) का उपयोग करने से कई सारे फायदे होते हैं। इसका उपयोग करने से सबसे बड़ा फायदा यही होता है कि यह शरीर में प्रोटीन, न्यूट्रिशन और विटामिन की कमी को पूरा करता है। साथ ही इसका उपयोग करने से ताकत और सहनशक्ति बढ़ती है। इसके अलावा इसका उपयोग करने से इम्यून सिस्टम (प्रतिरक्षा प्रणाली) बेहतर होता है।

यही नहीं बल्कि इस सप्लीमेंट को लेने से दुबली मांसपेशियों को सहारा मिलता है और मांसपेशियों में सुधार होता है। यानी इसका उपयोग करने से दुबला-पतला आदमी भी बेहतर हो सकता है। इसका उपयोग करने से आंत अपनी संरचना और कार्य को बनाए रखता है। अर्थात पेट सही रहता है और इससे थकान और कमजोरी भी दूर होती है।

हालांकि आपको इसका उपयोग डॉक्टर से राय लेने के बाद ही करना चाहिए। ताकि इसके फायदे नुकसान में न बदलें। इसमें हर सर्विंग (30 ग्राम) में 106 किलो कैलोरी होती है। साथ ही इसमें पीनट (मूंगफली) होता है, जिस वजह से पीनट से जिन लोगों को एलर्जी है वह इसका इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं।

Read Also: मेनोहेल्प सिरप के फायदे | सिनारेस्ट टैबलेट के फायदे | ज़िन्कोविट टैबलेट के फायदे

प्रोटीनेक्स पाउडर को लेकर अक्सर पूछे जाने वाले सवाल – FAQs about Protinex Powder

प्रश्न: प्रोटीनेक्स पाउडर का उपयोग किस लिए किया जाता है?

उत्तर: प्रोटीनेक्स पाउडर का उपयोग शरीर में प्रोटीन की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए, प्रतिरक्षा कार्य को बढ़ाने के लिए, थकान और कमज़ोरी को दूर करने के लिए किया जाता है। इसके साथ ही साथ इसका उपयोग मांसपेशियाँ को मज़बूत बनाने के लिए भी किया जाता है। 

प्रश्न: क्या प्रोटीनेक्स पाउडर लेना सुरक्षित है?

उत्तर: प्रोटीनेक्स पाउडर लेना सुरक्षित है। मगर उससे पहले आपको डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए। ताकि कोई परेशानी न हो और आप अपनी जरूरतों के अनुसार इसकी खुराक का पता कर सकें। 

प्रश्न: क्या प्रोटीनेक्स पाउडर की लत लग सकती है?

उत्तर: जी नहीं, इस पाउडर को लेने से इसकी लत नहीं लगती है। मगर अपनी सुरक्षा के लिए आपको इसका उपयोग नियमित तरीके से सोच समझ कर करना चाहिए। 

प्रश्न: क्या प्रोटीनेक्स पाउडर का उपयोग बच्चों द्वारा किया जा सकता है? 

उत्तर: इस पाउडर का उपयोग 8 साल से कम उम्र के बच्चों को नहीं कराना चाहिए। हालांकि उसके ऊपर की उम्र के बच्चों को भी इसका उपयोग डॉक्टर से राय लेने के बाद ही कराना चाहिए। चूंकि बच्चों की पाचन शक्ति और अन्य चीजें बड़ो की तुलना में कमजोर होती हैं।

प्रश्न: प्रोटीनेक्स पाउडर के साइड इफेक्ट क्या हैं? 

उत्तर: प्रोटीनेक्स पाउडर का सेवन करने के दौरान गैस की समस्या हो सकती है। साथ ही साथ आप तेजी से वजन बढ़ने और कई लोग दस्त की समस्या भी महसूस कर सकते हैं। इतना ही नहीं बल्कि इससे डिहाइड्रेशन (निर्जलीकरण) की शिकायत भी होती है। ऐसे में उस दौरान आपको प्रयाप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए। इसके साथ ही आपको डॉक्टर से राय लेना भी जरूरी है। 

प्रश्न: क्या गर्भवती महिलाएं प्रोटीनेक्स पाउडर का उपयोग कर सकती हैं? 

उत्तर: जी हां, गर्भवती महिलाओं द्वारा भी प्रोटीनेक्स पाउडर का उपयोग किया जा सकता है। मगर वह सुरक्षा के लिए डॉक्टर से राय ले सकती हैं। गर्भवती महिलाओं के लिए न्यूट्रिशिया इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड Protinex Mother’s Powder (प्रोटीनेक्स मदर्स पाउडर) नाम से एक अलग पाउडर बनाती है। 

प्रश्न: क्या स्तनपान कराने वाली महिलाएं प्रोटीनेक्स पाउडर का उपयोग कर सकती हैं? 

उत्तर: स्तनपान कराने वाली महिलाओं द्वारा भी प्रोटीनेक्स पाउडर का उपयोग किया जा सकता है। मगर उनके लिए प्रोटीनेक्स पाउडर की जगह प्रोटीनेक्स मदर्स पाउडर (Protinex Mother’s Powder) बनाया जाता है और उन्हें उसी का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा अगर वह डॉक्टर की राय भी लेती हैं तो यह बेहतर विकल्प होगा। 

प्रश्न: क्या प्रोटीनेक्स पाउडर का उपयोग शराब के साथ किया जा सकता है? 

उत्तर: जी नहीं, शराब के साथ इस पाउडर का उपयोग नहीं करना चाहिए। इससे शरीर पर बुरे प्रभाव पड़ सकते हैं। चूंकि इसका उपयोग शरीर में प्रोटीन की ज़रूरतों को पूरा करने, प्रतिरक्षा कार्य को बढ़ाने और थकान व कमज़ोरी को दूर करने के लिए किया जाता है। 

प्रश्न: क्या प्रोटीनेक्स पाउडर लेने के बाद ड्राइविंग की जा सकती है? 

उत्तर: जी हां, प्रोटीनेक्स पाउडर लेने के बाद ड्राइविंग की जा सकती है। यह पाउडर लेने के बाद आपको ड्राइविंग में कोई समस्या नहीं होगी। 

प्रश्न: क्या प्रोटीनेक्स पाउडर से जिगर और किडनी पर असर पड़ता है? 

उत्तर: प्रोटीनेक्स पाउडर के सेवन से जिगर और किडनी पर कोई ख़ास असर नहीं पड़ता है। लेकिन अगर कोई जिगर या किडनी की किसी गंभीर बीमारी से परेशान है तो उसे इसका उपयोग डॉक्टर से राय लेने के बाद ही करना चाहिए। अन्यथा इसके साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं। 

Read Also: त्रिफला कैप्सूल की जानकारी | टैक्सीम-ओ 200 टैबलेट की जानकारी | डेरिफाइलिन टैबलेट की जानकारी

Disclaimer

Capsuleinfo.com does not intend the content of this website to substitute for professional medical advice, diagnosis, treatment, or prevention of diseases and medical conditions. If you have any disease or medical condition, visit a doctor as soon as possible for treatment and/or management.

All informational articles are written according to our editorial research policy and researched and reviewed by a group of doctors & authors to get published on the website.

Found an error ? Notify us

If you find anything irrelevant and wrong information, We request user to notify us on our our mail with subject : Content Issues and URL @ support@capsuleinfo.com

Popular Doctors

0 out of 5

Dr. Saurabh Raj

ENT Specialists
Bangalore
₹600
Dr. Ameena Meah India bangalore Diabetologist
0 out of 5

Dr. Ameena Meah

Bangalore
₹500
Dr. Krishna Vora MBBS, MS - ENT, Diploma in Otorhinolaryngology (DLO) ENT/ Otorhinolaryngologist
0 out of 5

Dr. Krishna Vora

Mumbai
₹1500 fee

Related Articles